पहला इतिहास ग्रन्थ : अध्याय 2
1) इस्राएल के पुत्र ये थेः रूबेन, सिमओन लेवी और यूदा, इस्साकार और जबुलोन,
2) दान, युसुफ़ और बेनयामीन, नफ्ताली, गाद और आषेर।
3) यूदा के पुत्रः एर, ओनान और षेला। षूअह नामक एक कनानी स्त्री से उसके ये तीन पुत्र उत्पन्न हुएः यूदा का पहलौठा पुत्र एर प्रभु की दृष्टि में दुष्ट था, इसलिए उसने उसे मर जाने दिया।
4) उसकी बहू तामार से उसके पेरेस और जेरह उत्पन्न हुए। यूदा के कुल पाँच पुत्र थे।
5) पेरेस के पुत्रः हेस्रोन और हामूल।
6) जेरह के पुत्रः जिम्री, एतान, हेमान, कलकोल और दारा, कुल पाँच।
7) करमी का पुत्र आका था। प्रभु को अर्पित वस्तुएँ अपनाने के कारण वह इस्राएलियों की विपत्ति का कारण बना।
8) एतान का पुत्र अजर्या था।
9) ं हेस्रोन के पुत्र ये थेः यरहमएल, राम और कलूबाय।
10) राम अम्मीनादाब का पिता था। अम्मीनादाब यूदा के पुत्रों के मुखिया नहषोन का पिता था।
11) नहषोन सलमा का, सलमा बोअज का
12) बोअज ओबेद का और ओबेद यिषय का पिता था।
13) यिषय का पहला पुत्र एलीआब था, दूसरा अबीनादाब, तीसरा षिमआ,
14) चौथा नतनएल, पाँचवा रद्दय,
15) छठा ओसेम और सातवाँ दाऊद।
16) उनकी बहनें सरूया और अबीगैल थी। सरूया के तीन पुत्र थेः अबीषय, योआब और असाएल।
17) अबीगैल ने अमासा को जन्म दिया। अमासा का पिता इसमाएली येतेर था।
18) हेस्रोन के पुत्र कालेब के अपनी पत्नी अजूबा और यरीओत से पुत्र उत्पन्न हुए। अजूबा के पुत्र ये थे : येषेर, षोबाब और अरदोन।
19) अजूबा की मृत्यु हो गयी और कालेब ने एफ्राता से विवाह किया। उसने हूर को जन्म दिया।
20) हूर ऊरी का और ऊरी बसलएल का पिता था।
21) बाद में हेस्रोन का गिलआद के पिता माकीर की पुत्री से संसर्ग हुआ। जब उसने उसके साथ विवाह किया, तो वह साठ वर्ष का था; उसके उस से सगूब उत्पन्न हुआ।
22) सगूब सेईर का पिता था, जिसके गिलआद देष में तेईस नगर थे।
23) पर गषूर और आराम ने होव्वोत-याईर, कनात और उसके गाँव उन से छीन लिये-कुल साठ नगर। ये सब गिलआद के पिता माकीर के वंषज थे।
24) हेस्रोन की मृत्यु के बाद कालेब का अपने पिता की पत्नी एफ्राता से संसर्ग हुआ और उसके तकोआ के पिता अषहूर का जन्म हुआ।
25) हेस्रोन के पहलौठे बेटे यरहमएल के पुत्रः उसका पहला पुत्र राम, फिर बूना, ओरेन, ओसेम और अहीया।
26) यरहमएल की एक दूसरी पत्नी थी, जिसका नाम अटारा था। वह ओनाम की माँ थी।
27) यरहमएल के पहलौठे बेटे राम के पुत्रः मास, यामीन और एकेर।
28) ओनाम के पुत्रः षम्मय और यादा। षम्मय के पुत्रः नादाब और अबीषूर।
29) अबीषूर की पत्नी का नाम अबीहैल था। उस से अहबान और मोलीद का जन्म हुआ।
30) नादाब के पुत्र : सेलेद और अप्पयीम। सेलेद सन्तानहीन मरा।
31) अप्पयीम का पुत्र यिषई। यिषई का पुत्र : षेषान। षेषान का पुत्रः अहलय।
32) षम्मत के भाई यादा के पुत्रः येतेर और योनातान। येतेर सन्तानहीन मर गया।
33) योनातान के पुत्रः पेलेत और जाजा। यही यरहमएल के वंषज है।
34) षेषान के कोई पुत्र नहीं था, उसके केवल पुत्रियाँ थीं। षेषान के पास यरहा नाम का एक मिस्री सेवक था;
35) इसलिए षेषन ने अपने सेवक यरहा के साथ अपनी पुत्री का विवाह किया। उस से उसके यहाँ अत्तय उत्पन्न हुआ।
36) अत्तय नातान का पिता था और नातान, जाबाद का।
37) जाबाद एफ्लाल,का पिता था और एफ्लाल, ओबेद का।
38) ओबेद येहू का पिता था और येहू, अजर्या का।
39) अजर्या हेलेस का पिता था और हेलेस, एलआसा का।
40) एलआसा सिसमय का पिता था और सिसमय, षल्लूम का।
41) षल्लूम यकम्या का बेटा था ओर यकम्या, एलीषामा का।
42) यरहमएल के भाई कालेब के पुत्रः उसका पहलौठा पुत्र मारेषा, जो जीफ़ का पिता था। मारेषा का पुत्र हेब्रोन।
43) हेब्रोन के पुत्रः कोरह, तप्पुअह, रेकेम और षेमा।
44) षेमा योर्कआम के पिता रहम का पिता था, रेकेम षम्मय का पिता था।
45) षम्मय का पुत्र माओन था और माओन बेत-सूर का पिता था।
46) कालेब की उप-पत्नी एफ़ा ने हारान, मोसा और गाजेज को जन्म दिया। हारान गाजेज का पिता था।
47) यहदाय के पुत्रः रेगेम, योताम, गेषान, पेलेट, एफ़ा और षअफ़।
48) कालेब की उपपत्नी माका ने षेबेर और तिरहना को जन्म दिया।
49) उसने मदमन्ना के पिता षअफ़ को, मकबेना के पिता षवा को और गिबआ के पिता को जन्म दिया।
50) कालेब की पुत्री अक्सा थी। कालेब के वंषज यही थे। एफ्राता के पहलौठ हूर के पुत्र ये थे : किर्यत-यआरीम का पिता षोबाल,
51) बेथलेहेम का पिता सलमा और बेत-गदेर का पिता हरेफ़।
52) किर्यत-यआरीम के पिता षोबाल के वंषज ये थे : हरोए, मानहतियों का आधा वंष और
53) किर्यत-यआरीम के वंषज यित्री, पूती, षुमाती और मिश्राई। इन से सोरआई और एष्ताओली वंष उत्पन्न हुए।
54) सलमा के वंषजः बेेथलेहेम, नटोफ़ाती लोग, अट्रोल बेत-योआब, मानहतियों का आधा वंष, सोरई।
55) इन से याबेस में रहने वाले सोफ़ियों के वंष उत्पन्न हुए, फिर तिरआती, षिमआती, सूकाती। सूकाती वे केनी हैं, जो बेत-रेकाब के पिता हम्मत के वंषज है।