शोधकाग्नि की आत्माओं के लिए विनती
हे येसु, जो आत्माएं तुझे प्यार करती हैं, और जिन्हें तू प्यार करता है, उनके लिए हम तुझसे प्रार्थना करते हैं।  जो दाण्ड उनको उठाना है सो ठीक है।  उससे तू उन्हें अपने दर्शन के योग्य बनाता है।  तौभी तू चाहता है कि उनका दुख घटाने के लिए हम लोग तेरी दया का नाम लें।  दया करके हमारी यह विनती सुन।  हम यह कृपा माँगते हैं उन आत्माओं की विशेष याद कर, जिन्होंने अपने जीवन में भक्तिपूर्वक तेरे हृदय की सेवा की और उसकी बडाई बढाने के लिए काम किया था।  हे प्रिय येसु, यह मत होने दे कि वे और देर तक तुझ से दूर रहें।  तेरा हृदय उनको प्यार करता है।  उन्हें उस आनन्द में रख ले जिसको छोड वे और कुछ नहीं चाहती और जिसको तूने अपना अनमोल लहू बहा कर उनके लिए कमाया है।  आमेन।