भरोसे की विनती

हे मेरे ईश्वर, तू हमारे लिए असीम भला है, तू सर्वशक्तिमान् है, तू अपनी प्रतिज्ञाओं को पूरा करता है।  इसलिए मैं ढृढ़ भरोसा रखता हूँ, कि येसु खीस्त के पुण्य–फलों के कारण, मैं इस जीवन में अपने पापों की क्षमा, अच्छी तरह से तेरी सेवा करने की कृपा, और दूसरे जीवन में अंनत सुख पाऊँगा।  इस भरोसे में मैं जीना और मरना चाहता हूँ।  आमेन।