संत तेरेसा के आदर में नौरोजी प्रार्थना

गीत 1
पुरोहित:  पिता और पुत्र और पवित्र आत्मा के नाम पर।
सब: आमेन। 
पुरोहित:  प्यारे भाइयों और बहनों, बालक येसु की संत तेरेसा का आदर करने, उनकी मध्यस्थता द्वारा/ इश्वर से पाये वरदानों के लिए/ उन्हें धन्यवाद देने/ एवं ईश्वरीय इच्छा के अनुसार/ जीवन बिताने हेतु/ उनकी सहायता माँगने के लिए/ हम सब यहाँ एकत्रित हुए हैं।  आइए हम इस महान संत की/ मध्यस्थता माँगते हुए/ पिता परमेश्वर से प्रार्थना करें।  
सब:   हे लिसियुस की संत तेरेसा, तू सदा पीडि़त आत्माओं को/ स्वर्गीय वरदानों से/ साँत्वना देती है।  तेरी शक्तिशाली मध्यस्थता में/ हम अपने आप को/ समर्पित करते हैं।  स्वर्ग में रहकर/ पृथ्वी पर भलाई करने की/ तेरी तीव्र इच्छा को/ ध्यान में रखते हुए, हमारी सहायता कर। 
पुरोहित:  हे संत तेरेसा, हमारी सहायता के लिए ही/ ईश्वर ने तुझे चुना है।  हम तेरी शक्तिशाली मध्यस्तता के लिए/ प्रार्थना करते हैं।
सब:   हे येसु के नन्हें पुष्प, दुर्बलों का बल, तेरी अनन्त मध्यस्थता में/ हम भरोसा रखते हैं।  पूर्ण भक्ति भाव से/ हम अपने दैनिक जीवन की कठिनाईयों, बीमारियों, चिन्ताओं एवं आशंकाओं को/ तेरे चरणों में रखते हैं।  हे अति प्यारी संत, हमारी सहायता कर/ क्योंकि हमने अपने आपको/ तेरे चरणों में समर्पित किया है।  तेरी प्रार्थना में ही/ हमारी भलाई है।  प्रभु के दिव्य हृदय से/ उन वरदानों के लिए प्रार्थना कर/ जो हमारे शरीर एवं आत्मा के लिए/ अति आवश्यक हैं।  पवित्रता एवं कृपा के फूलों को/ हम पर बरसाइये/ ताकि हम भी अनन्त जीवन का मुकुट/ ग्रहण कर सकें।  आमेन।
पुरोहित: हम प्रार्थना करें।
बालक येसु की संत तेरेसा, तेरे अल्पकालीन जीवन में/ तू पवित्रता, ईश्वरीय प्यार, पूर्ण समर्पण, आज्ञाकारिता, सहनशीलता, एवं विनम्रता का प्रतीक बनी।  अब तू स्वर्ग में/ अपने सद्गुणों के फलों का/ अनुभव कर रही है।  हे अति वात्सल्यमय कुँवारी!  अपनी कृपा दृष्टि हम पर बरसा/ क्योंकि हम तुझ पर भरोसा रखते हैं। येसु से हमारे लिए वह कृपा प्राप्त कर/ जिस से हम हमारे शरीर एवं आत्मा को/ तेरे समान पवित्र एवं निर्मल रख सकें, साथ ही हम उन सभी चीज़ाें से भी/ दूर रह सकें/ जो हमारी आत्मा एवं शरीर को कलंक पहुँचाती हैं। 
सब:  आमेन।

पहला दिन
पुरोहित: दैनिक जीवन की विशेष कृपायें प्राप्त करने के लिए/ हम संत तेरेसा से प्रार्थना करें। 
सब:  अति प्यारी एवं उदारता से परिपूर्ण/ बालक येसु की संत तेरेसा, तेरे साथ मिलकर, पूर्ण भक्ति भाव से/ मैं ईश्वरीय प्रताप की/ आराधना करता हूँ।  ईश्वर ने जो विशेष आशिष के उपहार/ तेरे जीवनकाल में/ एवं जो महिमा के उपहार/ मृत्यु के बाद प्रदान किये हैं/ इन के लिए मैं आनंद मनाता हूँ/ एवं ईश्वर को दिल की गहराई से/ धन्यवाद देता हूँ।  मैं पूर्ण भक्ति–भाव से/ तुझ से अनुनय विनय करता हूँ/ कि प्रसन्न होकर/ मेरे लिए ये कृपायें प्राप्त कर/ जो मैं तुझसे माँगता हूँ।  यदि ये उपहार ईश्वरीय महिमा/ एवं मेरी आत्मा की भलाई के लिए/ उचित नहीं हैं/ तो मेरे लिए/ वे सभी कृपाएं प्राप्त कर/ जो इन दोनों के लिए लाभदायक हैं।
पुरोहित: बालक येसु की संत तेरेसा,
सब:  हमारे लिए प्रार्थना कर।
पुरोहित: हे स्वर्गिक पिता,
सब:  तू ने अपनी अकथनीय भलाई में/ बालक येसु की संत तेरेसा की आत्मा को/ पवित्रकारक अनुग्रह की अमूल्य निधि से भूषित किया/ एवं संसार के मोह माया से/ इसे सुरक्षित रखने की कृपा प्रदान की।  हम तुझसे प्रार्थना करते हैं/ कि इस अनमोल उपहार को/ कभी नहीं खोने का आनंद/ हमें प्रदान कर। इस उपहार के द्वारा ही/ हम तेरे दत्तक पुत्र, तेरे पुत्र येसु के भाई–बहन, पवित्रात्मा का मन्दिर/ एवं स्वर्ग के वारिस बन जाते हैं।  हमें शक्ति प्रदान कर/ कि हम सदा घोर पाप से दूर रहें/ जो हम से इस कृपा को छीन लेता है।  हमें आशिष प्रदान कर/ कि हम पाप के अवसरों से दूर रहें/ एवं हमें कृपा प्रदान कर/ कि हम प्रलोभनों से लड़ सकें।  हम इन आवश्यकताओं को/ तेरी सदा विश्वसनीय पुत्री/ संत तेरेसा की मध्यस्थता द्वारा/ तुझे समर्पित करते हैं।  बालक येसु की संत तेरेसा, तू ने ईश्वरीय कृपा खोने की अपेक्षा/ मृत्यु प्र्राप्त करना अधिक पसन्द किया था। हमारे लिए वह सभी सहायता प्राप्त कर/ जो घोर पाप से/ दूर रहने के लिए आवश्यक हैं।  हमारे लिए वह अनुग्रह प्राप्त कर/ जिसके लिए हम याचना करते/ एवं तेरी शक्तिशाली मध्यस्थता द्वारा/ निवेदन करते हैं। आमेन।

दूसरा दिन
पुरोहित: दैनिक जीवन की विशेष कृपायें प्राप्त करने के लिए/ हम संत तेरेसा से प्रार्थना करें। 
सब:  बालक येसु की संत तेरेसा! तू ईश्वर को प्रसन्न करने के लिए/ हर दिन अद्भुत रीति से/ सद्गुणों में बढ़ती रही।  तेरे समान बनने/ एवं तेरे सद्गुणों का आचरण करने की कृपा/ हमें प्रदान कर।
पुरोहित: बालक येसु की संत तेरेसा,
सब:  हमारे लिए प्रार्थना कर।    
पुरोहित: हे स्वर्गिक पिता,
सब:  सही राह पर आगे बढ़ने का स्वर्गीय वरदान/ तू ही हमें निरंतर प्रदान करता है।  यही वरदान बालक येसु की संत तेरेसा को/ तूने प्रदान किया।  तेरी इस वत्सल संत के द्वारा/ हम तुझसे प्रार्थना करते हैं/ कि हमें ज्योति के वरदान/ एवं तेरी आराध्य इच्छाओं को पूरी करने का धैर्य प्रदान कर।  तेरी कृपा हमेशा/ संत तेरेसा के आगे चली/ एवं तू ने हर पल उसे सँभाला।  तेरे बिना कोई येसु का नाम तक नहीं ले सकता है/ जिसके द्वारा हम मुक्ति प्राप्त करते हैं।  हे पिता! हमारे मन एवं हृदयों में/ वही कृपायें बहा जो हमारे मुक्तिदाता ने/ पुण्य कार्यों के परिणामस्वरूप प्राप्त की हैं/ और जिसके लिए संत तेरेसा विनती करती है।  ईश्वरीय कृपाओं से परिपूर्ण/ बालक येसु की संत तेरेसा! हम तुझसे विनय करते हैं/ कि हमारे लिए स्वर्गिक पिता से मध्यस्थता कर/ कि हमारे मुक्ति्तदाता के एवं तेरे पुण्य के परिणामस्वरूप/ हमारे कत्र्तव्यों को परिपूर्ण रूप से/ पूरा करने की सभी कृपायें/ हमारी आत्माओं को प्रदान कर।  हमारे लिए वह अनुग्रह प्राप्त कर/ जिसके लिए हम याचना करते हैं/ एवं तेरी शक्तिशाली मध्यस्थता द्वारा/ प्रार्थना करते हैं। आमेन।

तीसरा दिन
पुरोहित: दैनिक जीवन की विशेष कृपायें प्राप्त करने के लिए/ हम संत तेरेसा से प्रार्थना करें। 
सब:  हे बालक येसु की संत तेरेसा! शुद्धता की लिलि, कार्मल के अलंकार एवं महिमा/ और ईश्वरीय प्यार की दूत, मैं तुझे नमन करता हूँ।  प्रभु येसु ने उदारता से/ जो अनुग्रह तुझे प्रदान किया है/ उस में मैं आनंद मनाता हूँ।  विनीत हृदय एवं दृढ़ विश्वास के साथ/ मैं तुझ से याचना करता हूँ/ कि मेरी सहायता कर/ क्योंकि मैं जानता हूँ/ कि ईश्वर ने तुझे प्यार, करुणा एवं शक्ति प्रदान की है।  मैं विनती करता हूँ/ कि जो अनुग्रह/ इस नोवेना के द्वारा मैं माँगता हूँ/ इस के लिए/ ईश्वर से प्रार्थना कर।  तेरी मध्यस्थता/ मेरी इन याचनाओं के लिए/ सफलता का मुकुट/ एवं मेरे हृदय को आनन्द प्रदान करे।  पृथ्वी पर भलाई करने की/ तेरी प्रतिज्ञा को याद रख/ जैसे तूने कहा, मैं अपना स्वर्गवास पृथ्वी पर भलाई/ तथा गुलाबों की वर्षा करते हुये बिताऊँगी ।
पुरोहित: बालक येसु की संत तेरेसा,
सब:  हमारे लिए प्रार्थना कर।
पुरोहित: हे स्वर्गिक पिता,
सब:  तू ने बालक येसु की संत तेरेसा को/ नम्रता, सरलता, सहनशक्ति, भरोसा, धर्मोत्साह, सद्गुणों में बढ़ने का वर/ एवं प्रेममय आचरण करने में सहायता प्रदान की। हम तुझसे विनय करते हैं/ कि हमारे दिलों में भी/ इन सद् गुणों की वर्षा कर/ एवं संत तेरेसा के सदृश बनने का वर/ हमें प्रदान कर/ ताकि हम तरे पुत्र एवं हमारे आदर्श/ येसु के योग्य बन जायें।  यह सद्गुण हमारे लिए अति आवश्यक है/ क्योंकि इनके बिना हम इस संसार में/ सुखी नहीं रह सकते हैं/ एवं तेरे लिए वही महिमा/ प्राप्त नहीं कर सकते हैं/ जो तू हम से चाहता है।  हे पिता ईश्वर, इन सद्गुणों को अपनाने का वर/ कृपापूर्वक हमें प्रदान कर।  तेरे असंख्य वरदानों/ एवं हमारे प्रयत्नों के द्वारा/ हम भी संत तेरेसा के समान/ जीवन में सच्चे एवं स्थायी सद्गुण/ उत्पन्न कर सकें।  हे सर्वशक्तिमान ईश्वर, सभी उत्तम उपहारों के दाता, यह तेरी इच्छा थी/ कि धन्य तेरेसा तेरी कृपा से/ शुद्धता का सौंदर्य एवं सहनशीलता के साथ/ कार्मल में खिल उठे।  मुझ सेवक को यह वर दे/ कि संत तेरेसा का अनुकरण करते हुए/ मैं खीस्त का समर्पित/ एवं सच्चा अनुयायी बनने योग्य बन जाऊँ।  हमारे लिए वह अनुग्रह प्राप्त कर/ जिसके लिए हम याचना करते/ एवं तेरी शक्तिशाली मध्यस्थता द्वारा/ निवेदन करते हैं। आमेन।

चौथा दिन
पुरोहित: दैनिक जीवन की विशेष कृपायें प्राप्त करने के लिए/ हम संत तेरेसा से प्रार्थना करें। 
सब:  येसु के नन्हे पुष्प, जीवन में बहुत पहले से ही/ तू ने दिलों जान से/ अपने आप को/ कार्मल में अर्पित किया/ और तेरे अल्पकालीन जीवन में/ तू स्वर्गदूत के समान विशुद्धि, साहसिक प्रेम एवं पूर्ण समर्पण का प्रतीक बनी।  मुझ पर दया दृष्टि डाल/ क्योंकि मैं तुझ पर भरोसा रखता हूँ।  जो विशेष कृपा/ इस नोवेना के द्वारा मैं माँगता हूँ/ और मेरे तन मन को/ निर्मल रखने की कृपा/ मेरे लिए प्राप्त कर।  हे प्यारी संत, मेरी सभी आवश्यकताओं में/ तेरी मध्यस्थता की शक्ति का/ अनुभव करने का वर/ मुझे प्रदान कर।  इस जीवन के सभी दुख संकटों के समय/ विशेष करके मृत्यु के समय/ मुझे सांत्वना प्रदान कर/ ताकि तेरे साथ/ मैं अनंत आनंद प्राप्त करने के/ योग्य बन जाऊँ।  बालक येसु की संत तेरेसा, तू ने इस लोक में/ बहुत दुख संकटों का सामना किया/ और वेदनाओं के समय/ प्रार्थना में आनंद पाया।  हमारे लिए ईश्वर से विनती कर/ कि हमारे दैनिक जीवन के क्रूस/ धीरज के साथ सहने की शक्ति/ एवं इस पृथ्वी पर/ निर्वासन के संकटों के कारण दुखित/ हमारे दिलों को सांत्वना प्रदान कर। 
पुरोहित: बालक येसु की संत तेरेसा,
सब:  हमारे लिए प्रार्थना कर।
पुरोहित: हे स्वर्गिक पिता,
सब:  तेरी अनंत प्रज्ञा में तू धर्मात्माओं को/ इसलोक में/ भी में सोने के समान/ परीक्षा देने की अनुमति देता है/ ताकि तू स्वर्ग में उन्हें महिमा के साथ/ मुकुट प्रदान कर सके।  बालक येसु की संत तेरेसा की मध्यस्थता द्वारा/ हम तुझसे विनय करते हैं/ कि सहनशक्ति एवं साँत्वना की सभी कृपाएं/ हमें प्रदान कर/ जो इसलोक की कठिनाईयों का सामना करने के लिए/ अति आवश्यक हैं।  तुझे प्यार करने वालों के लिए/ सभी कार्य उनकी भलाई के लिए तू बदल देता है।  तेरी अनुमति के बिना/ उन पर कुछ घटित नहीं होता है।  हमारे जीवन की बुराइयों से/ भलाई उत्पन्न करना तू ही जानता है।  ये सांत्वना देने वाली सच्चाइयाँ/ दुख–संकटों के बीच में हमारा सहारा बनें।  तेरी कृपा से/ हमारे सभी दुख–संकटों को मधुर बना।  हमारे हृदयों को/ अधीरता से पे्ररित नहीं होने दे/ और न हमारे होंठों पर/ कभी तेरे विरुद्ध कुड़कुड़ाहट ही आने दे।  दुख–संकट के दैवकृत उपयोग को हमें समझाइये/ जैसे संत तेरेसा, जिसने दुख के बीच आनंद पाया, समझती थी।  हमारे लिए वह अनुग्रह प्राप्त कर/ जिसके लिए हम याचना करते/ एवं तेरी शक्तिशाली मध्यस्थता द्वारा/ निवेदन करते हैं। आमेन।

पाँचवाँ दिन
पुरोहित: दैनिक जीवन की विशेष कृपायें प्राप्त करने के लिए/ हम संत तेरेसा से प्रार्थना करें। 
सब:  हे कार्मल के नन्हे पुष्प, ईश्वरीय प्यार से परिपूर्ण! सर्वशक्तिमान ईश्वर ने तुझे/ तेरे छोटे से जीवन काल में/ परिपूर्णता की राह पर चलने के लिए/ अद्भुत आत्मिक शक्ति से/ सम्पन्न किया।  जीवन में बहुत पहले से ही/ तू बीमारियों से पीडि़त थी। फिर भी तू विश्वास में दृढ़ बनी रही/ एवं प्रार्थना में आनंद पाया।  हे संत तेरेसा, मेरे लिए प्रार्थना कर/ कि मैं तेरी मध्यस्थता से/ लाभ उठा सकूँ/ एवं इस नोवेना के द्वारा/ जिस कृपा की याचना मैं करता हूँ/ वह प्राप्त कर सकूँ।  बालक येसु की संत तेरेसा, तू ने वेदी के परम पवित्र संस्कार को/ इतना प्यार किया/ कि तू परम प्रसाद के द्वारा/ इस संस्कार से संयुक्त होने की/ तीव्र इच्छा से परिपूर्ण थी।  तेरे समान/ इस आराध्य संस्कार के प्रति प्यार/ एवं हमारे हृदयों में/ इस संस्कार को बारंबार स्वीकार करने की/ तीव्र उत्साह की कृपा/ ईश्वर से हमें दिला। 
पुरोहित: बालक येसु की संत तेरेसा,
सब:  हमारे लिए प्रार्थना कर।
पुरोहित: हे स्वर्गिक पिता,
सब:  तूने मनुष्यों को इतना प्यार किया/ कि अपने एकलौते पुत्र को/ क्रूस पर उनका मुक्तिदाता/ एवं पवित्र परम संस्कार में/ उनका भोजन बनाया।  इस पवित्र परम संस्कार के प्रति/ प्रेम से पे्ररित/ एवं यह संस्कार प्राप्त करने के लिए/ अति उत्सुक/ बालक येसु की संत तेरेसा की प्रार्थनाओं द्वारा/ हम तुझसे अनुनय विनय करते हैं/ कि इस पवित्र संस्कार को/ अकसर ग्रहण करने की कृपा/ हमें प्रदान कर।  बालक येसु की संत तेरेसा का/ अनुकरण करते हुए/ उत्तम मनोवृत्ति, उचित उद्देश्य, सजीव विश्वास से भरे हृदय,/ सच्ची नम्रता, दृढ़ भरोसे, एवं तीव्र प्यार के साथ/ हम इस परम पवित्र संस्कार के पास आ सकें।  हे पिता हमें यह समझाइये/ कि यह परम भोजन/ हमारी आत्माओं के लिए इतना आवश्यक है/ जितना भौतिक भोजन हमारे शरीर के लिए है/ और हमारी आत्माओं को चोट पहुँचाये बिना/ हम इस से अलग नहीं रह सकेंगे।  हमारे लिए वह अनुग्रह प्राप्त कर/ जिसके लिए हम याचना करते/ एवं तेरी शक्तिशाली मध्यस्थता द्वारा/ निवेदन करते हैं। आमेन।

छठवाँ दिन
पुरोहित:  दैनिक जीवन की विशेष कृपायें प्राप्त करने के लिए/ हम संत तेरेसा से प्रार्थना करें।
सब:  बालक येसु के नन्हे पुष्प, जो तेरा आदर करते हैं/ एवं दुख–संकट में/ तुझ से प्रार्थना करते हैं/ उनके लिए तू शक्तिशाली, कोमल एवं दयालु मध्यस्था है।  इसलिए मैं पूर्ण भरोसे के साथ/ तेरे चरणों पर घुटने टेकता हूँ/ और अत्यन्त दीनता के साथ/ एवं गंभीरतापूर्वक प्रार्थना करता हूँ/ कि आवश्यकता की इस घड़ी में/ मुझे तेरे संरक्षण में ले ले/ और जो अनुग्रह/ मैं इस नोवेना में माँगता हूँ/ वह मेरे लिए प्राप्त कर।  मेरे निवेदनों को/ स्वर्ग की दयामय रानी मरियम को/ कृपापूर्वक सौंप दे/ ताकि तेरे साथ वह भी/ मेरे उद्देश्यों के लिए/ अपने परम प्रिय पुत्र येसु के/ सिंहासन के सामने विनती करें।  आवश्यक कृपाएं प्राप्त करने तक/ मेरे लिए मध्यस्थता करते रह।  बालक येसु की संत तेरेसा/ तू ने सदा निष्कलंक कुँवारी से/ अत्यंत प्यार किया/ एवं उनके द्वारा अनेक उपकारों को प्राप्त किया।  तेरे समान उनका आदर करने की कृपा/ हमारे लिए प्राप्त कर/ एवं उनके सुन्दर एवं प्रशंसनीय सद्गुणों को/ हमारे जीवन में उत्पन्न करने की/ सहायता हमें प्रदान कर।
पुरोहित: बालक येसु की संत तेरेसा, 
सब:  हमारे लिए प्रार्थना कर।
पुरोहित: हे स्वर्गिक पिता,
सब:  तू ने धन्य कुँवारी मरियम को/ महानतम् एवं अमूल्य कृपाएं/ तथा सौभाग्य प्रदान किया/ और उसे अपने पुत्र येसु की/ एवं हमारी माँ बनने का वर दिया।  बालक येसु की संत तेरेसा,/ जो प्यारी कुँवारी का आदर करने में सदा विश्वसनीय रही,/ की मध्यस्थता द्वारा/ हम तुझ से विनय करते हैं/ कि पवित्र माता के अति प्यारे बच्चे होने का/ अमूल्य अनुग्रह हमें प्राप्त हो।  हमें माँ की मध्यस्थता की आवश्यकता है/ क्योंकि यह प्रिय माँ/ प्रभु येसु की ओर जाने का मार्ग/ एवं उन कृपाओं का भण्डार है/ जो हमारे मुक्तिदाता ने/ अपना बहुमूल्य रक्त बहाकर/ हमारे लिए प्राप्त किया हैं।  हे पिता, धन्य कुँवारी मरियम को/ हमारी माता के रूप में/ एवं हमारे जीवन की राह में हमारे पथप्रदर्शक के रूप में/ हमें प्रदान करने के लिए/ हम तुझे धन्यवाद देते हैं/ और प्रार्थना करते हैं/ कि बालक येसु की संत तेरेसा के समान/ उनकी पूर्ण नम्रता, निष्कलंक शुद्धता एवं तीव्र प्रेम जैसे सद्गुणों के/ सच्चे अनुकारक बने रहें।  हम अब एवं हमारी मृत्यु के समय/ उनकी शक्तिशाली सहायता के लिए उन से प्रार्थना करते हैं। आमेन।  

सातवाँ दिन
पुरोहित: दैनिक जीवन की विशेष कृपायें प्राप्त करने के लिए/ हम संत तेरेसा से प्रार्थना करें।
सब:  बालक येसु की संत तेरेसा, अति प्यारी संत! तेरे साथ मिलकर/ मैं ईश्वरीय प्रताप की आराधना करता हूँ।  ईश्वर ने तेरे जीवन को/ अद्भुत वरदानों से भूषित किया/ एवं मृत्यु के बाद महिमा प्रदान की, इन बातों को याद करने से/ मेरा दिल आनन्द से भर जाता है।  तेरे साथ मिलकर/ मैं ईश्वर की स्तुति करता हूँ/ एवं धन्यवाद की विनती का उपहार चढ़ाता हूँ।  मैं प्रार्थना करता हूँ/ कि तेरी शक्तिशाली मध्यस्थता द्वारा/ ईश्वर की सिद्धिकारी कृपा में/ जीने एवं मरने का सबसे बड़ा वरदान/ मेरे लिये प्राप्त कर।  इस नोवेना की विशेष कृपा/ प्राप्त करने के लिए भी/ मैं तुझ से प्रार्थना करता हूँ।  बालक येसु की संत तेरेसा, ईश्वर के साथ/ तू हमारी संरक्षिका/ एवं खीस्तीय जीवन का आदर्श है।  हम तुझ से प्रार्थना करते हैं/ कि हमें यह वर दे/ कि हम ईश्वर की महिमा/ एवं हमारी आत्माओं की भलाई के लिए/ सदा तेरा आदर तथा अनुकरण करते हुए/ तुझ से प्रार्थना कर सकें। 
पुरोहित: बालक येसु की संत तेरेसा,
सब:  हमारे लिए प्रार्थना कर।
पुरोहित: हे स्वर्गिक पिता, 
सब:  तू ने बालक येसु की संत तेरेसा की मध्यस्थता द्वारा/ हमें अनेक वरदानों से अनुग्रहित किया है/ और तेरी इच्छा है/ कि हम इस प्यारी संत का/ विशेष आदर करें।  हम तुझ से विनती करते हैं/ कि इसका आदर करने में, इसके सद्गुणों का अनुकरण करने में/ एवं इसकी मध्यस्थता माँगने में/ हम सदा विश्वसनीय बने रहें।  संतों का आदर करना/ हमारे लिए उचित है।  तू ने संतों को/ हमारी मध्यस्थता के लिए नियुक्त किया है, ताकि तू हमें प्रचुर सहायता प्रदान कर सके।  जो आशिष हमारी प्रार्थना द्वारा/ हम प्राप्त नहीं कर सकते हैं/ वह भी इन संतों की प्रार्थना द्वारा/ हम प्राप्त कर सकते हैं।  यह तेरी इच्छा है/ कि सभी सन्त हमारा आदर्श बनें।  वे हमारे समान थे, तेरी कृपा से एक दिन/ हम भी इनके समान बन सकते हैं/ एवं वह कार्य कर सकते हैं/ जो इन्होंने किया था।  हे पिता, संत तेरेसा का सच्चा एवं स्थायी आदर करने की कृपा/ हमें प्रदान कर।  इसका आदर करने के कारण/ हम पवित्र बन जाएं/ एवं तेरी ओर अग्रसर हो सकें।  हमारे लिए वह अनुग्रह प्राप्त कर/ जिसके लिए हम याचना करते/ एवं तेरी शक्तिशाली मध्यस्थता द्वारा/ निवेदन करते हैं। आमेन। 

आठवाँ दिन
पुरोहित: दैनिक जीवन की विशेष कृपायें प्राप्त करने के लिए/ हम संत तेरेसा से प्रार्थना करें।
सब:  ईश्वरीय महिमा बढ़ाने की इच्छा से ज्वलित हे संत तेरेसा! तू ने सदा प्रार्थना एवं उदारता से/ अपनी आत्मा के पवित्रीकरण के लिए/ निरन्तर प्रयत्न किया। इसलिए तू कलीसिया में/ पवित्रता का आदर्श बन गई।  अब तू स्वर्ग में/ उन लोगों की संरक्षिका है/ जो विश्वास के साथ तेरे पास आते हैं।  मुझ पर दया दृष्टि डाल/ जो तेरे शक्तिशाली संरक्षण की याचना करता हूँ।  तेरी प्रभावशाली प्रार्थना द्वारा/ मुझे वह अनुग्रह प्रदान कर/ जिसकी मैं इस नौरोजी प्रार्थना के द्वारा/ याचना करता हूँ।  हे बालक येसु की संत तेरेसा, तू ने इस संसार की वस्तुओं का/ सदा ईश्वरीय इच्छानुसार उपयोग किया।  तू ने सांसारिक चीज़ों को/ स्वर्गीय उपहार प्राप्त करने के लिए ही उपयोग किया।  हम तुझसे प्रार्थना करते हैं/ कि इस जीवन में/ सभी आवश्यक कृपायें हमारे लिए प्राप्त कर।
पुरोहित: बालक येसु की संत तेरेसा,
सब:  हमारे लिए प्रार्थना कर।
पुरोहित: हे स्वर्गिक पिता,
सब:  तू ने पृथ्वी की सभी अच्छी वस्तुओं को/ मनुष्य के उपयोग के लिए बनाया/ एवं अद्भुत उदारता से उसे सब कुछ प्रदान किया है।  बालक येसु की संत तेरेसा के द्वारा/ हम तुझसे प्रार्थना करते हैं/ कि हमें उन सभी चीजों को प्रदान कर/ जो इस लोक में/ हमारे जीवन के परिरक्षण के लिए आवश्यक हैं/ एवं उन चीजों केा आत्मसंयम के साथ/ उपयोग करना हमें सिखा।  हमारे हृदय को इन वस्तुओं से/ मोहित न होने दे।  ये वस्तुएं हमें तुझसे/ दूर ले जाने का कारण न बनें।  तू ही इस संसार की/ सभी अच्छी वस्तुओं का दाता है।  संासारिक चीजों को पवित्रता से/ एवं तेरी महिमा के लिए/ उपयोग करने का वर/ हमें प्रदान कर/ जैसा तूने तेरी विश्वसनीय दासी, बालक येसु की संत तेरेसा को प्रदान किया था।  हे पिता, तू आकाश के पक्षियों को खिलाता है/ एवं फूलाें को पहनाता है/ हमारी आत्माओं को मत त्याग/ जो तुझ पर ही भरोसा रखती हैं।  हमारे लिए वह अनुग्रह प्राप्त कर/ जिसके लिए हम याचना करते/ एवं तेरी शक्तिशाली मध्यस्थता द्वारा/ निवेदन करते हैं। आमेन।

नौवाँ दिन
पुरोहित: दैनिक जीवन की विशेष कृपायें प्राप्त करने के लिए/ हम संत तेरेसा से प्रार्थना करें।
सब:  हे संत तेरेसा, पवित्र कँुवारी! क्रूसित येसु की प्यारी कुँवारी! तू इस लोक में ईश्वरीय प्यार से प्रज्वलित थी, अब परलोक में/ इस से भी अधिक शोभा से प्रज्वलित है।  मैं तुझ से प्रार्थना करता हूँ/ कि इस पवित्र ज्योति का एक कण/ मेरे लिए प्राप्त कर/ ताकि मैं संसार की मोह माया से दूर रह सकँू/ एवं सदा ईश्वरीय उपस्थिति का अनुभव करते हुए/ अपना जीवन बिता सकूँ।  इस नोवेना में जिन विशेष अनुग्रह की माँग करता हूँ, उसे प्राप्त करने के लिए भी/ मैं तुझसे प्रार्थना करता हूँ।  बालक येसु की संत तेरेसा, जीवन भर तू ईश्वरीय कृपा के प्रति विश्वसनीय रहीं, इसलिए अपनी मृत्यु के दिन/ ईश्वर द्वारा सम्मानित की गयी।  ईश्वरीय नियमों के प्रति विश्वसनीय रहने की कृपा/ एवं ईश्वरीय प्यार से/ कभी अलग नहीं होने का वर हमें प्रदान कर।
पुरोहित: बालक येसु की संत तेरेसा,
सब:  हमारे लिए प्रार्थना कर।
पुरोहित: हे स्वर्गिक पिता,
सब:  तू ने हमारे इस कठिनाईमय जीवन के बाद/ हमारे लिए मनोहर पुरस्कार तैयार किया है/ एवं अंत तक तेरे प्यार में/ विश्वसनीय रहने वालों को/ आदर एवं महिमा के मुकुट/ पहनाने की प्रतिज्ञा की है।  हम तुझ से प्रार्थना करते हैं/ कि बालक येसु की संत तेरेसा की मध्यस्थता द्वारा/ अन्तिम क्षण तक तेरी एवं कलीसिया की आज्ञाओं/ और तेरे पवित्र वचनों पर/ विश्वसनीय बने रहने की कृपा हमें प्रदान कर।  हे पिता हमें यह वर दे/ कि हम बालक येसु की संत तेरेसा के समान/ कठिनाईयों के समय पीछे न हटें, परीक्षाओं के समय/ तुझ से अलग न होे जायें/ एवं दुख संकट हमारी शक्ति खोने का कारण न बनें।  संसार, शैतान या हमारी कमजोरियाँ/ हमें तुझ से कभी अलग न करेें/ क्योंकि हम सदा तेरे ही बना रहना चाहते हैं/ जैसे हम ने हमारे बपतिस्मा/ एवं प्रथम परम प्रसाद के समय प्रतिज्ञा की थी।  तेरी कृपा में बने रहना भी तेरी कृपा है। हम तुझसे प्रार्थना करते हैं/ कि हमें यह वर प्रदान कर/ और तेरे दयामय प्यार से/ कृपा–स्थायित्व का वर हमें प्रदान कर/ जिसके द्वारा हम सदा के लिए/ तुझसे एक हो जायें/ एवं सदा तेरे आराध्य मुखमंडल को ध्यान करने की/ परम कृपा प्राप्त कर सकें।  हे पिता, शैतान के विरुद्ध हमारी लड़ाई में/ विजय हासिल करने तक हमें सँभाल/ जब तू ही हममें विजयी बनेेगा।  हमारे लिए वह अनुग्रह प्राप्त कर/ जिसके लिए हम याचना करते/ एवं तेरी शक्तिशाली मध्यस्थता द्वारा/ निवेदन करते हैं। आमेन।
–––––––––––––––
गीत 2
पुरोहित:  हम प्रार्थना करें।
हे ईश्वर, तू ने संत तेरेसा को अनेक स्वर्गीय वरदानों से भूषित किया/ एवं हमारी संरक्षिका के रूप में नियुक्त किया।  इस महान संत की याद करते हुये/ हम तुझसे प्रार्थना करते हैं/ कि उसके समान तुझे प्यार करने/ एवं पवित्र जीवन जीने की उत्सुकता/ तथा आशिष हमें प्रदान कर।  बच्चों के समान निष्कलंक एवं निर्मल/ बने रहने में हमारी सहायता कर।  संत तेरेसा के समान/ तुझ पर भरोसा रखने के लिए एवं अपने आपको पूर्ण रूप से तुझे समर्पित करने के लिए/ हमें शक्ति प्रदान कर।  हर एक शारीरिक एवं मानसिक पीड़ा के समय/ संत तेरेसा के समान/ प्रतिदिन तेरी उपस्थिति एवं इच्छा को अनुभव करने का/ और तुझमें दृढ बने रहने का वर हमें प्रदान कर/ ताकि हम भी इस महान संत के समान/ इस जीवन में एवं अनन्त जीवन में/ तेरी महिमा का दर्शन कर सकें। हम यह प्रार्थना करते हैं हमारे प्रभु खीस्त के द्वारा।
सब:  आमेन।

निवेदन
पुरोहित:  मिशनरी बुलाहटों के लिए/ हम संत तेरेसा की मध्यस्थता की याचना करें।
सब:   हे प्रभु के नन्हे पुष्प, तू ही धर्म प्रचारकाें की संरक्षिका/ एवं आदर्श है।  सभी युवजनों के दिलों को ईश्वरीय प्रेम से प्रज्वलित कर/ ताकि वे प्रभु येसु का राज्य दुनिया भर में फैलाने के लिए/ अपने आपको समर्पित कर सकें/ और अपने वचन एवं कर्म द्वारा/ प्रभु का सुसमाचार लोगों तक पहुँंचा सकें।  सभी धर्म प्रचारकाें के लिए प्रार्थना कर/ ताकि उनका जीवन/ युवक–युवतियों के लिए आदर्श बन सके।  सभी पुरोहितो, धर्म भाई–बहनों के लिए प्रार्थना कर/ ताकि वे तेरे समान पवित्र जीवन बिताकर/ युवजनों को प्रभु की सेवा के लिए/ आकर्षित कर सकें।  सभी माता–पिताआें के लिए प्रार्थना कर/ ताकि उनका आदर्श जीवन उनके बच्चों को/ प्रभु की सेवा में/ अपने आपको समर्पित करने की प्रेरणा दे। 
पुरोहित:  रोगियों के लिए/ हम संत तेरेसा की मध्यस्थता की याचना करें। 
सब:  हे दयामयी कुँवारी!  रोगियों की आशा।  हमारी प्रार्थना सुन। बीमारियों से पीडि़त हमारे भाई बहनों पर/ दया दृष्टि डाल। यदि उनकी आत्माओं के लिए लाभदायक हो/ तो उनके अच्छे स्वास्थ्य के लिए/ ईश्वर से प्रार्थना कर/ ताकि वे पूर्ण स्वास्थ्य–लाभ प्राप्त कर/ प्रभु की स्तुति कर सकें।  यदि इश्वर की इच्छा है/ कि वे अधिक समय तक दुख सहते रहें/ तो उन्हें तेरी सहन–शक्ति प्रदान कर/ ताकि वे मुस्कुराते हुए सभी वेदनाआें को/ दूसरों की मुक्ति के लिए/ ईश्वर को समर्पित कर सकें।  
पुरोहित: बच्चों के लिए/ हम संत तेरेसा की मध्यस्थता की याचना करें। 
सब:  हे बालक येसु की संत तेरेसा! तू ने बच्चों को इतना प्यार किया/ कि उनके समान बनकर/ ईश्वर को स्वयं समर्पित किया।   हे अति प्यारी संत!  सब बालक–बालिकाओं की रक्षा कर, शैतान के सभी चंगुलों से उन्हें बचा।  संसार के मोह माया/ उनके सद्गुणों को खोने का कारण न बने।  उनके हृदयों को ईश्वरीय प्यार/ एवं विश्वास से भर दे/ ताकि एक दिन तेरे समान/ वे ईश्वरीय आनंद प्राप्त कर सकें।  
पुरोहित:  हम अपने निजी निवेदनों को/ संत तेरेसा के समक्ष रखें।
(हम मौनपूर्वक अपनी निजी ज़रूरतों को प्रस्तुत करें)
पुरोहित:  हम प्रार्थना करें
हे ईश्वर, संत तेरेसा की शक्तिशाली मघ्यस्थता पर/ भरोसा रखकर/ इन आवश्यकताओं को/ हम तेरे चरणों में समर्पित करते हैं।  हम पर दया कर/ और संत तेरेसा के पुण्य फलों को/ याद करते हुए/ हमारी इन आवश्यकताओं को पूरा कर।  यह प्रार्थना हम करते हैं/ प्रभु खीस्त के द्वारा। 
सब:    आमेन।
पुरोहित: संत तेरेसा की मध्यस्थता से पाये सभी कृपादानों के लिए हम ईश्वर को धन्यवाद दें और कहें ... 

(1 हे पिता हमारे, 3 प्रणाम मरियम और 1 पिता, पुत्र और पवित्र आत्मा की स्तुति)
संत तेरेसा से आह्वान प्रार्थना
हे प्रभु ..... हम पर दया कर।
हे खीस्त .....
हे प्रभु .....
हे खीस्त ..... हमारी प्रार्थना सुन।
हे खीस्त ..... हमारी प्रार्थना पूर्ण कर।
हे स्वर्गवासी पिता–ईश्वर ..... हम पर दया कर।
हे पुत्र ईश्वर, दुनिया के मुक्तिदाता .....
हे पवित्रात्मा ईश्वर .....
हे पवित्र त्रिएक परमेश्वर .....
हे सन्त मरिया ..... हमारे लिये प्रार्थना कर।
कार्मल की माँ मरियम .....
विजय की माँ मरियम .....
संत तेरेसा, ईश्वर की सेविका ..... हमारे लिए प्रार्थना कर 
संत तेरेसा, ईश्वर के दयामय स्नेह की पात्री .....
संत तेरेसा, येसु की दुल्हन .....
संत तेरेसा, स्वर्ग का तोहफ़ा .....
संत तेरेसा, बचपन में विशिष्ट .....
संत तेरेसा, आज्ञाकारिता का उत्तम उदाहरण .....
संत तेरेसा, ईश्वरीय इच्छा के प्रति पूर्ण रूप से समर्पित .....
संत तेरेसा, शान्ति की प्रणयिनी .....
संत तेरेसा, धैर्य की प्रणयिनी .....
संत तेरेसा, कोमलता की प्रणयिनी .....
संत तेरेसा, बलिदान की वीरांगना .....
संत तेरेसा, क्षमाशीलता मेंं उदार .....
संत तेरेसा, दरिद्रों की उपकारिणी .....
संत तेरेसा, सच्ची खीस्त भक्त .....
संत तेरेसा, पवित्र मुखमंडल की उपासिका .....
संत तेरेसा, ईश्वरीय प्यार से प्रज्वलित .....
संत तेरेसा, परमसंकटों का अधिवक्ता .....
संत तेरेसा, प्रार्थना में बने रहने बाली .....
संत तेरेसा, ईश्वर के साथ शक्तिशाली मध्यस्था .....
संत तेरेसा, गुलाबों की वर्षा करने वाली .....
संत तेरेसा, पृथ्वी पर भलाई करने वाली .....
संत तेरेसा, निवेदनों को सुनने वाली .....
संत तेरेसा, शुद्धता की प्रणयिनी .....
संत तेरेसा, दरिद्रता की प्रणयिनी .....
संत तेरेसा, आज्ञाकारिता की प्रणयिनी .....
संत तेरेसा, ईश्वरीय महिमा के उत्साह से प्रज्वलित .....
संत तेरेसा, ईश्वरीय प्यार से प्रेरित .....
संत तेरेसा, ईश्वरीय आशिष की सन्तान .....
संत तेरेसा, सरलता में परिपूर्ण .....
संत तेरेसा, ईश्वरीय भरोसे में श्रेष्ठ .....
संत तेरेसा, असाधारण बुद्धि से सम्मानित .....
संत तेरेसा, सदैव उत्तर देने वाली .....
संत तेरेसा, हमारी सच्ची मार्गदर्शनी .....
संत तेरेसा, ईश्वरीय प्यार की पात्री .....
हे परमेश्वर के मेमने! तू संसार के पाप हर लेता है।
हमें क्षमा कर।
हे परमेश्वर के मेमने! तू संसार के पाप हर लेता है।
हमारी प्रार्थना पूर्ण कर।
हे परमेश्वर के मेमने! तू संसार के पाप हर लेता है।
हम पर दया कर।

पुरोहित: संत तेरेसा, धर्म प्रचारकों की संरक्षिका!
सब:  हमारे लिए प्रार्थना कर
पुरोहित: हम प्रार्थना करें। 
हे ईश्वर, तूने अपनी सेविका संत तेरेसा की आत्मा को/ अपने प्यार से विभूषित किया।  तूने उसके जीवन काल में/ उसे अद्भुत वरदानों से भर दिया/ और मृत्यु के बाद/ तेरी महिमा से आलोकित किया। उसकी शक्तिशाली मध्यस्थता द्वारा/ हम तुझसे प्रार्थना करते हैं/ कि यहाँ उपस्थित सभी लोगों पर, जिन्होंने भक्तिभाव से इस नोवेना प्रार्थना में भाग लिया/ अपना अनुग्रह बरसा।  हमें अपनी आशिष प्रदान कर/ ताकि हम तुझे प्यार करें/ एवं दूसरों को तुझे प्यार करने में/ पे्ररित कर सकें। हमारे प्रभु खीस्त के द्वारा।
सब:  आमेन।

(पुरोहित उपस्थित लोगों पर पवित्र जल छिड़कते हैं)