सन्त यूसुफ़ से पवित्र कलीसिया के लिए विनती

हे सन्त युसुफ़, हम अपने दुख और कष्ट में आपके शरण लेते हैं।  आपकी भी अति पवित्र दुलहिन की सहायता पहले माँग कर, हम बडे आसरे से आपकी रक्षा चाहते हैं।  आप तो ईश्वर की माँ, निष्कलंक कुँवारी से पपित्र प्रेम द्वारा संयुक्त रहे।  अपने पिता के प्रेम से बालक येसु को प्यार किया है।  आपके उस महान प्रेम का स्मरण कर, हम हाथ जोड़कर आपसे यह विनती करते हैं कि ख्रीस्त ने अपने लहू से जिन लोगों को बचाया है, उन पर आप दयादृष्टि कीजिए।  आप हमारी सब आवश्यकताओं में हमें अपनी शक्ति और सहायता द्वारा संभालें।  हे पवित्र घराने के ईमानदार रक्षक, येसु ख्रीस्त की चुनी हुई सन्तानों की रक्षा कीजिए।  हे अति प्रेमी पिता, धर्म की भूलचुकों से और हर बुराई से हम बच जाएँ।  हे अति शक्तिमान रक्षक, शैतान की चढ़ाइयों के समय, स्वर्ग से हमें सहायता दीजिए।  जैसे आपने बालक येसु को मरण की जोखिम से बचाया था, वैसे ही अब ईश्वर की पवित्र कलीसिया को शत्रुओं के फ़ंदों और हर विपत्ती से बचाइए।

हम सबों को सुरक्षित रखिए।  ऎसा कीजिए कि हम आपकी सहायता द्वारा, आपके समान पवित्र जीवन के बाद पवित्र मरण और स्वर्ग का अनन्त सुख प्राप्त करें।  आमेन।